Title : दिल के अरमां Lyrics
Album/Movie- निकाह -1982
Music By- रवि
Lyrics- हसन कमाल
Singer(s)- सलमा आगा

दिल के अरमां आंसुओं में बह गए
हम वफ़ा करके भी तनहा रह गए

जिंदगी एक प्यास बनकर रह गई
प्यार के किस्से अधूरे रह गए
हम वफ़ा…

शायद उनका आखरी हो ये सितम
हर सितम ये सोचकर हम सह गए
हम वफ़ा…

खुदको भी हमने मिटा डाला मगर
फासले जो दरमियान थे रह गए
हम वफ़ा…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *