Jawani Ki Rel Kahin Lyrics-Shabbir Kumar, Anuradha Paudwal, Coolie

Title – जवानी की रेल कहीं Lyrics
Movie/Album- कुली Lyrics-1983
Music By- लक्ष्मीकांतLyrics-प्यारेलाल
Lyrics- आनंद बक्षी
Singer(s)- शब्बीर कुमार, अनुराधा पौडवाल

जवानी की रेल कहीं छूट ना जाए
मोहब्बत के खेल में दिल टूट ना जाए
कोई लुटेरा टिकट तेरा मेरा
चुरा के हम दोनों को चेप ना जाए
जवानी की रेल…

मैं तेरा इंजन हूँ, तू मेरी गाड़ी
लग जाए इंजन तो चलती है गाड़ी
कनक्सन ये तेरा-मेरा, टूट ना जाए
कोई लुटेरा टिकट…

संकरी ये फ़ुईयाँ पाताल गहरा पानी
भरते-भरते मेरी कमर दुखानी
ये कच्ची गगरिया कहीं फूट ना जाए
कोई लुटेरा टिकट…

चोरी से चल के चौबारे पे आजा
कुण्डी हटा और खोल दरवाजा
ये मस्ती भरी रात कहीं रुठ ना जाए
कोई लुटेरा टिकट…

Leave a Reply