Title~ मोहब्बत ने मोहब्बत को
Movie/Album~ एक रिश्ता 2001
Music~ नदीम-श्रवण
Lyrics~ समीर
Singer(s)~ उदित नारायण, अल्का याग्निक

हवा कह रही है, घटा कह रही है
हसीं ये नज़ारा है
दिल ही ये समझेगा, दिल ही ये जानेगा
दिल का इशारा है
मोहब्बत ने, मोहब्बत को
मोहब्बत से पुकारा है
हवा कह रही…

मोहब्बत से मेरी जो आँखें मिली तो
मोहब्बत मैं करने लगा
जो देखी मोहब्बत की दीवानगी तो
मोहब्बत पे मरने लगा
मोहब्बत को तो चैन आये मेरी जाँ
मोहब्बत के आग़ोश में
मोहब्बत से मिल के दीवाने रहे ना
मोहब्बत कभी होश में
मेरा दिल मेरी जाँ, तू मेरा अरमां
मुझे तो तेरी खुबसूरत जवाँ
इन अदाओं ने मारा है
ज़रा पूछ मैंने बिना तेरे कैसे
ये लम्हा गुज़ारा है
मोहब्बत ने मोहब्बत को…

मोहब्बत मोहब्बत तेरे दिल पे लिख दूँ
मोहब्बत मेरा नाम है
मोहब्बत से बढ़ के नहीं काम कोई
मोहब्बत मेरा काम है
मोहब्बत को देखो, मोहब्बत को चाहूँ
मोहब्बत से बातें करूँ
मोहब्बत कभी दूर जाये जो मुझसे
मोहब्बत में आहें भरूँ
ये वादा टूटे ना, ये दामन छूटे ना
तेरा प्यार मुझको ऐ जान-ए-जहां
ज़िन्दगी से भी प्यारा है
तेरे रूप को मैंने ओ जान-ए-तमन्ना
जिगर में उतारा है
मोहब्बत ने मोहब्बत को…

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *